आस्थाछत्तीसगढ़

इन 26 नियमों का पलान करते हुए मनाना होगा गणेश उत्सव, नहीं तो होगी सख्त कार्रवाई

रायपुर। छत्तीसगढ़ में कोरोना का कहर लगातार बढ़ते जा रहा है। राजधानी रायपुर जिला प्रशासन की और से इस वर्ष होने वाले गणेश उत्सव को लेकर दिशा निर्देश जारी कर दिए गए है। इसी बार प्रदेश में गणेशोत्सव काफी सतर्कता के साथ मनेगा। रापयुर में जिला प्रशासन की तरफ से इस बाबत सख्त गाइड लाइन जारी किया गया है। एडीएम विनित नंदनवार की तरफ से जारी आदेश में मूर्ती की ऊंचाई से लेकर पंडाल की साइज तक निर्धारित कर दिए हैं। जिला प्रशासन ने आयोजकों के लिए 26 तरीके से गाइडलाइन जारी किये हैं, जिसका इस्तेमाल किए बगैर गणेश प्रतिमा स्थापित नहीं किया जा सकेगा। एडीएम नंदनवार ने की तरफ से जारी आदेश में कहा गया है कि जो भी आयोजक शर्तों का उल्लंघन करेगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जायेगी।

जिला प्रशासन की तरफ से इस बार झांकी की भी अनुमति नहीं दी गयी है। मूर्ति की साइज 4×4 से ज्यादा नहीं होगी, वहीं पंडाल को भी 15X15 से ज्यादा बड़ा नहीं बनाया जा सकेगा। पंडाल में कुर्सियां नहीं लगेगी, साथ ही 20 लोगों से ज्यादा पंडाल में मौजूद होने नहीं दिया जायेगा। वहीं मूर्ति दर्शन के लिए आने वाले लोगों को भी अपना नाम पता और मोबाइल नंबर लिखना होगा, ताकि संक्रमित मिलने पर उसका कांटेक्ट मिल सके। पंडाल में सीसीटीवी लगाना होगा। वहीं बिना मास्क के मूर्ति दर्शन की अनुमति नहीं होगी।

कोई भी कोरोना संक्रमण के किसी भी लक्षण वाले व्यक्ति को पंडाल में प्रवेश नहीं मिलेगा। वहीं अगर पंडाल में दर्शन के लिए आया व्यक्ति अगर संक्रमित होता है तो आयोजकों को पूरा खर्च उठाना होगा। इस बार पूजा के दौरान जगराता, भंडारा आदि कार्यक्रमों की भी इजाजत नहीं होगी। पूजा के दौरान प्रसाद व चरणामृत सहित किसी भी चीज को बांटने की इजाजत नहीं होगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button