गुप्तचर विशेषभारत

अजब गजब : नेशनल हाइवे के बीच किसान कर रहा खेती, डिवाइडर पर ही उगा दी फसल

नेशनल हाइवे से आप भी गुजरते होंगे, लेकिन आपने ये कभी नहीं सोचा होगा कि रोड के बीचों-बीच भी खेती की जा सकती है, और वो भी रोड में बने डिवाइडर पर। यह सुनने में थोड़ा अजीब जरूर लग सकता है, लेकिन बैतूल का एक किसान इसे सच बनाने में लगा हुआ है। उसने बैतूल भोपाल हाइवे के डिवाइडर पर सोयाबीन की फसल उगाई है। अब यह मामला सामने आने के बाद हाइवे ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) और स्थानीय प्रशासन हैरान है।

क्या है पूरा मामला

न्यूज़ चैनल इंडिया टुडे के पत्रकार राजेश भाटिया के अनुसार कि बैतूल से भोपाल के लिए फोरलेन सड़क बन रही है. बैतूल से भोपाल जाने पर आठ मील पर फोरलेन के बीचोंबीच डिवाइडर पर सोयाबीन की फसल लहलहाती नज़र आई. मामला प्रशासन तक पहुंचा. इस पर तहसीलदार मौके पर पहुंचे. उनकी जांच में सामने आया कि डिवाइडर पर 10 फीट चौड़ी और लगभग 300 फीट लंबी जगह पर सोयाबीन की फसल लगी हुई थी. फसल बोने में लाला यादव नाम के एक किसान का नाम आया. इस पर तहसीलदार ने तत्काल राजस्व कर्मचारियों और पटवारी को जांच के आदेश दिए.

किसान बोला- बीज खराब न हो इसलिए डिवाइडर पर डाला

वहीं हाईवे पर फ़सल उगाने वाले किसान लाला यादव ने बताया कि उसने अपने खेत पर सोयाबीन बोई थी. खेत पर बुवाई के बाद पांच किलो सोयाबीन का बीज बच गया था. बीज खराब ना हो इसलिए डिवाइडर पर डाल दिया था. सोचा था कि 5-7 पौधे होंगे, जिनसे बीज काम आ जाएंगे. थोड़े दिन बाद जब सोयाबीन की फसल निकल आई तो उसको पानी और दवाई देने लगा. हालांकि लल्ला यादव का कहना है कि उसने खेती के मकसद से बीज डिवाइडर पर नहीं डाले थे.

तहसीलदार ने कहा- जांच के आदेश दिए हैं

‘आजतक’ से बात करते हुए तहसीलदार ओमप्रकाश चोरमा ने बताया कि फोरलेन के डिवाइडर पर किसी किसान के सोयाबीन बोने की खबर मिली है. मौके पर जाकर जांच की गई तो सूचना सही मिली. पटवारी को मामले की जांच के आदेश दिए हैं. इस बारे में NHAI से भी बात की जाएगी. क्योंकि यह जगह उन्हीं की है. अगर कानूनी रूप से देखा जाए तो डिवाइडर पर खेती करना गलत है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button