गुप्तचर विशेषबिग ब्रेकिंग

पहले से 10 गुना ज्यादा खतरनाक होकर सामने आया Corona Virus, बढ़ी सबकी चिंता

 

पूरी दुनिया अभी कोरोना वायरस से जूझ ही रही है, ऐसे में इस वायरस पर आ रही नई रिपोर्ट्स परेशान करने वाली है. रिपोर्ट्स की मानें तो मलेशिया में कोरोना वायरस का ऐसा स्ट्रेन मिला है जो 10 गुना ज्यादा खतरनाक है. कोरोना वायरस के म्यूटेशन की पहले भी कई खबरें आ चुकी हैं लेकिन कोरोना वायरस ने अब जो रूप बदला है, उसे सबसे ज्यादा खतरनाक माना जा रहा है.

अब सामने आया पहले से 10 गुना ज्यादा खतरनाक कोरोना वायरस, बढ़ी चिंता

इससे पहले अमेरिका के टॉप संक्रामक रोग विशेषज्ञ डॉक्टर एंथनी फाउची ने भी चेतावनी दी थी कि SARS-CoV-2 के स्वरूप में कुछ बदलाव देखे जा रहे हैं जिससे ये और तेजी से फैल सकता है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, मलेशिया में मिली कोरोना वायरस की नई किस्म 10 गुना ज्यादा संक्रामक है.  ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के अनुसार, मलेशिया में कोरोना वायरस का जो म्यूटेशन हुआ है उसे D614G कहा जाता है.

अब सामने आया पहले से 10 गुना ज्यादा खतरनाक कोरोना वायरस, बढ़ी चिंता

मलेशिया के स्वास्थ्य महानिदेशक डॉक्टर नूर हिशम अब्दुल्लाह ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि कोरोना वायरस का ये स्ट्रेन इतना खरतनाक है कि ये अब तक वैक्सीन पर की गई सभी स्टडी को बेकार कर सकता है. उन्होंने कहा, ‘लोगों को सचेत रहने और ज्यादा सावधानी बरतने की जरूरत है क्योंकि वायरस का बदला हुआ ये स्वरूप अब मलेशिया में पाया गया है.’

अब सामने आया पहले से 10 गुना ज्यादा खतरनाक कोरोना वायरस, बढ़ी चिंता

डॉक्टर अब्दुल्लाह ने अपने सोशल मीडिया पोस्ट में लिखा, ‘हमें लोगों के सहयोग की बहुत जरूरत है ताकि हम वायरस की श्रृंखला को तोड़कर म्यूटेशन से इंफेक्शन फैलने से रोक सकें.’

अब सामने आया पहले से 10 गुना ज्यादा खतरनाक कोरोना वायरस, बढ़ी चिंता

रिपोर्ट के अनुसार, ‘ये म्यूटेशन अब तक 45 केस में तीन लोगों के समूह में मिला है. इसकी शुरूआत एक रेस्टोरेंट के मालिक से हुई थी. भारत से लौटे इस शख्स ने 14 दिनों के होम क्वारंटीन का उल्लंघन किया था. इसके आरोप में इसे पांच महीने की जेल और जुर्माने की सजा सुनाई गई थी.
अब सामने आया पहले से 10 गुना ज्यादा खतरनाक कोरोना वायरस, बढ़ी चिंता

रिपोर्ट के अनुसार, कोरोना वायरस का ये स्ट्रेन फिलीपींस से लौटे कुछ लोगों में भी पाया गया है. पिछले साल दिसंबर के महीने में पहली बार वुहान में इस वायरस की पहचान की गई थी. इसके बाद से वैज्ञानिकों ने इसके जेनेटिक मैटेरियल कई तरह के बदलाव देखे हैं. इस वायरस का सबसे ज्यादा म्यूटेशन यूरोप और अमेरिका म

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button