गुप्तचर विशेषबिग ब्रेकिंग

रैना ने किया बड़ा खुला, क्यों धोनी के साथ एक ही दिन लिया संन्यास, यह संयोग बना वजह

पूर्व कप्तान (MS Dhoni) के संन्यास लेने के कुछ ही देर बाद क्रिकेट को अलविदा कहने वाले सुरेश रैना (Suresh Raina reveals the reson) ने अब खुलासा किया है कि दोनों ने एक ही दिन संन्यास क्यों लिया. रैना (Suresh Raina) ने कहा कि उन्हें इस बात की अच्छी तरह जानकारी थी कि एमएस (MS Dhoni) चेन्नई पहुंचते ही अपने संन्यास का ऐलान कर देंगे. ध्यान दिला दें कि धोनी, पीयूष चावला, दीपक चाहर और कर्ण शर्मा 14 अगस्त को आईपीएल (IPL 2020) की तैयारी के लिए शिविर में हिस्सा लेने चेन्नई पहुंचे और अगले ही दिन एमएस ने इंस्टाग्राम पर संन्यास का ऐलान कर दिया. वैसे दोनों के संन्यास का कारण “अजीब संयोग” का बनना रहा, जो बहुत ही मुश्किल से बनता है और जिस पर बमुश्किल ही ध्यान जाता है. और जब इस संयोग पर एमएस और रैना का ध्यान गया, तो दोनों ने संन्यास का दिन चुनने में भी देर नहीं लगायी.

रैना ने 15 अगस्त की भावनात्मक रात के बारे में बताते हुए कहा कि मैं जानता था कि एमएस चेन्नई पहुंचने के बाद क्रिकेट को अलविदा कह देंगे. इसलिए मैं तैयार था. मैं, दीपक चाहर और कर्ण शर्मा 14 अगस्त को रांची पहुंचे और हमने वहां से एमएस और मोनू सिंह को पिक किया. रैना ने कहा कि संन्यास के बाद हमने एक-दूसरे को गले लगाया और बहुत जोर से रोए. इसके बाद मैं, चावला, रायुडू, केदार जाधव और कर्ण शर्मा एक साथ बैठे और हमने अपने करियर और रिश्ते को लेकर बात की.

रैना ने कहा कि हम पहले से ही 15 अगस्त को संन्यास लेने का फैसला कर चुके थे. धोनी की जर्सी नंबर 7 है और मेरी 3 और इसके एक साथ मिलाने पर 73 का अंक आता है. 15 अगस्त को भारत की आजादी हासिल किए 73 साल हो गए थे. इसलिए संन्यास के लिए इससे बेहतर दिन नहीं हो सकता था. रैना ने कहा कि यह ऐतिहासिक संयोग बन रहा है और इस दिन संन्यास लेकर हमें इस दिन को हमेशा-हमेशा के लिए यादगार बना देना चाहिए.

बता दें कि धोनी ने अपने करियर का आगाज 23 दिसंबर 2004 और रैना ने अपने करियर का आगाज 30 जुलाई 2005 को किया था. हम दोनों करीब साथ-साथ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में आए और सीएसके के लिए एक साथ बने रहे. अब हमने एक साथ संन्यास लिया और साथ-साथ आईपीएल खेलना जारी रखेंगे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button