छत्तीसगढ़बिग ब्रेकिंगवारदात

केशकाल पुलिस की बड़ी कार्रवाई ,24 किलो गांजे के साथ 3 को दबोचा

कोंडागांव: केशकाल पुलिस को एक बड़ी सफलता हासिल हुई है. चेक पोस्ट लगाकर चेकिंग कर रही पुलिस के हाथ दो गांजा तस्कर लगे हैं दरअसल कोंडागांव पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ तिवारी के नेतृत्व में यह अभियान चलाया गया जिसके बाद चेक पोस्ट लगाकर केशकाल थाने के सामने चेकिंग की गई .

दरअसल कोंडागांव पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ तिवारी के नेतृत्व में यह अभियान चलाया गया जिसके बाद चेक पोस्ट लगाकर केशकाल थाने के सामने चेकिंग की गई . जिसमें जगदलपुर की ओर से लौट रहे वाहन को रुकवाया गया पुलिस ने गांजे की तस्करी कर रहे 3 आरोपियों को धर दबोचा है. मुखबिर की सूचना के आधार पर संदेहास्पद वाहन की जांच की जा रही थी. इस दौरान पुलिस ने 24 किलो गांजा जब्त किया. जब्त गांजे की अनुमानित कीमत 1 लाख 20 हजार बताई जा रही है. फिलहाल तीनों आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से कोर्ट ने आरोपियों को न्यायिक रिमांड पर भेज दिया है.

दरअसल, कोंडागांव पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ तिवारी के आदेशानुसार केशकाल थाना परिसर के सामने 14 अगस्त से ही वाहनों की जांच की जा रही थी, जिसके बाद 15 अगस्त को मुखबिर की सूचना मिलने पर पुलिस ने थाना के सामने चेकपोस्ट लगाकर वाहनों की चेकिंग शुरू की. गाडियों को रोककर पूछताछ किया गया, जिसके बाद वाहन की जांच करने पर कार से लगभग 24 किलो गांजा बरामद किया गया.

पुलिस भी रह गई हैरान तस्करी की तकनीक देख

बता दें कि गांजे की तस्करी में आरोपियों ने सुनियोजित तरीके से गांजे को छुपाया था. जब पुलिस ने संदेह पर वाहन को रोक कर उसकी चेकिंग की, तो प्रथम दृष्टिया गाड़ी में एक ढोलक के अलावा और कुछ नहीं दिखा, जिसके बाद ढोलक भारी होने के कारण जब उसे खोला गया, तो उसमें से गांजा निकला. पुलिस ने आरोपियों से कड़ाई से पूछताछ करने पर उन्होंने बताया कि कार के पीछे लगे स्पेशल बंफर के अंदर में तीन पैकेट गांजा छिपाया है. गांजा तस्करी के इस सुनियोजित तकनीक को देख कर पुलिस भी हैरान रह गई.

छत्तीसगढ़ के रास्ते पंजाब ले जा रहे थे गांजा

थाना प्रभारी भीमसेन यादव ने बताया कि तस्करी में शामिल तीनों आरोपियों में अजय चौधरी जो पंजाब के लुधियाना निवासी है. पांडव कुमार होशियारपुर निवासी, वहीं अर्जुन सिंह भी पंजाब के होशियारपुर का रहने वाला है. आरोपियों को कोर्ट में पेश करने के बाद कोर्ट ने न्यायिक रिमांड पर भेज दिया है. बात दें कि कारवाई में निरीक्षक भीमसेन यादव, ओंकार बंजारे, आरक्षक लिलेश ध्रुव, ईश्वर नेताम, महेंद्र नेताम, टीजूराम मण्डावी और आजूराम का विशेष योगदान रहा.

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button