गुप्तचर विशेषछत्तीसगढ़वारदात

नक्सलियों के कायरतापूर्ण कार्य से ही नक्सली नष्ट होंगे

रायपुर (विक्रम प्रधान)*● निर्दोष ग्रामीणों को मुखबिर के शक में मारना नक्सलियों की कमजोरी एवं बौखलाहट की संकेत है*

*● नक्सलियों की ये कायराना हरकत ही नक्सल संगठन की खात्मा का कारण बनेगा।*

विगत महीनों में बस्तर संभाग अंतर्गत नक्सलियों के विरुद्ध प्रभावी अभियान संचालित करने के परिणामस्वरूप अनेक माओवादियों की डेरा को ध्वस्त किया गया तथा कई नक्सलियों की शव बरामद भी किया गया।

नक्सली आंदोलन में भविष्य नही होने की बात को समझते हुये काफी बड़ी तादात में नक्सलियों द्वारा आत्मसमर्पण भी किया गया है। नक्सलियों की पैर के नीचे जमीन खिसकते हुये देखकर बाहरी माओवादियों द्वारा निर्दोष ग्रामीणों की हत्या एवं मारपीट करके आतंकित वातावरण निर्मित करने का प्रयास किया जा रहा है लेकिन उनकी ये गलत विचार एवं कायराना हरकत ही बस्तर क्षेत्र से नक्सल संगठन की खात्मा का कारण बनेगा।

बस्तर क्षेत्र में हाल फिलहाल में कोरोना संक्रमण, लॉकडाउन एवं बाढ़ की परिस्थितियों में भी सड़क, पुल-पुलिया व अन्य मुलभूत सुविधाएं ग्रामीणों को मुहैया कराया गया है जिससे शासन, प्रशासन और सुरक्षाबल के प्रति ग्रामीणों में विश्वास बढ़ा है।

इस प्रकार बदलते परिस्थिति की घबराहट में माओवादी द्वारा किसी भी ग्रामीण को जनविरोधी बोलकर निशाना बनाया जा रहा है। ये माओवादियों की ताकत की नही बल्कि कमजोरी की निशानी है।

सुंदरराज पी. IPS
पुलिस महानिरीक्षक
बस्तर रेंज, जगदलपुर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button