गुप्तचर विशेषबिग ब्रेकिंगसियासत

PAKISTAN जेल में बंद मरियम नवाज के बाथरूम में इमरान सरकार ने लगवाए कैमेरे

Pakistan के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ(Nawaz Sarif) की बेटी मरयम नवाज (Maryam Nawaz) ने इमरान सरकार पर बड़ा आरोप लगाया है। मुस्लिम लीग-नवाज की उपाध्यक्ष मरयम नवाज के अनुसार जेल की जिस सेल में उन्हें रखा गया था, वहां खुफिया कैमरे लगाए गए थे। यहां तक कि उनके वॉशरूम में भी कैमरे लगाए गए थे। हाल ही में एक साक्षात्कार में, उन्होंने उन असुविधाओं के बारे में बात की, जो पिछले साल चौधरी शुगर मिल्स मामले में गिरफ्तार किए जाने के बाद उन्हें जेल में झेलनी पड़ी थीं।

पाकिस्तान में कोई महिला सुरक्षित नहीं है।

मरयम ने इमरान सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, ‘मैं दो बार जेल जा चुकी हूं। अगर मैं हिरासत में रहने के दौरान अपने और अन्य महिला कैदियों के साथ होने वाले सुलूक के बारे में विस्तार से बताती हूं, तो उन्हें अपना चेहरा छुपाने के लिए जगह नहीं मिलेगी।’ उन्होंने कहा कि अगर अधिकारी एक कमरे में घुसकर उनके पिता नवाज शरीफ के सामने उन्हें गिरफ्तार कर सकते हैं और उन पर निजी हमले कर सकते हैं, तो पाकिस्तान में कोई महिला सुरक्षित नहीं है।

जियो न्यूज के अनुसार मरयम ने कहा कि उनकी पार्टी संविधान के दायरे में सेना के साथ बातचीत करने के लिए तैयार है, बशर्ते कि सत्ता में मौजूद इमरान सरकार को हटाया जाए। उन्होंने आगे कहा कि वह सरकारी संस्थानों के खिलाफ नहीं हैं और इस बात पर जोर दिया कि बातचीत गुपचुप तरीके से नहीं होगी।

उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (PDM) के मंच के माध्यम से बातचीत हो सकती है। पीएमएल-एन नेता को पिछले साल मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार किया गया था। उन्होंने दावा किया था कि नेशनल एकाउंटेबिलिटी (NAB) ने कानून का उल्लंघन करके उन्हें गिरफ्तार किया है और उन्हें राजनीतिक रूप से प्रताड़ित किया जा है। पिछले साल एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में प्रधानमंत्री के विशेष सहायक शहजाद अकबर ने कहा था कि शरीफ परिवार ने मनी-लॉन्ड्रिंग और शेयर्स के अवैध हस्तांतरण के लिए चौधरी चीनी मिलों का इस्तेमाल किया। मिल के शेयर्स के माध्यम से 2008 में मरयम नवाज को 7 मिलियन से अधिक शेयर ट्रांसफर किए गए थे, जिन्हें 2010 में यूसुफ अब्बास शरीफ को ट्रांसफर कर दिया गया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button