गुप्तचर विशेषछत्तीसगढ़

प्रदेश के 267 से ज्यादा कर्मचारी एक साथ होंगे बर्खास्त, CM के निर्देश पर GAD ने शुरू की कार्रवाही, स्कूल शिक्षा विभाग के है सबसे ज्यादा अधिकारी और कर्मचारी

@AdityaTripathi छत्तीसगढ़ (CHHATTISGARH) प्रदेश में फर्जी जाति प्रमाण पत्र के आधार पर नौकरी कर रहे शासकीय सेवकों के बुरे दिन आने वाले हैं। दरअसल छत्तीसगढ़ शासन इन फर्जी जाति प्रमाण पत्र के आधार पर कार्यरत शासकीय सेवकों को बर्खास्त करने जा रही है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ( CM BHUPESH BAGHEL ) के आदेश के बाद इन तमाम अधिकारियों और कर्मचारियों पर कार्यवाही शुरू कर दी गई है मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए हैं कि जिन अधिकारी कर्मचारियों के पास न्यायालय का स्थगन आदेश नहीं है उन्हें तत्काल बर्खास्त किया जाए और इसके साथ ही सभी प्रकरणों में सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा विभाग बार नियमित समीक्षा की जाए।

659 प्रकरणों जांच

सामान्य प्रशासन विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक उच्च स्तरीय प्रमाणीकरण छानबीन समिति रायपुर (RAIPUR) को वर्ष 2000 से 2020 तक फर्जी गलत जाति प्रमाण पत्र के कुल 758 प्रकरण अभी तक प्राप्त हो चुके हैं जिनमें 659 प्रकरणों का जांच उपरांत निराकरण भी कर लिया गया है शेष 267 प्रकरणों में जाति प्रमाण पत्र फर्जी पाए गए जिसे संबंधित विभागों को कार्यवाही के लिए भेज दिया गया है इनमें से अधिकांश प्रकरण स्कूल शिक्षा विभाग के हैं। इन्हीं में से अधिकांश प्रकरण उच्च न्यायालय में विचाराधीन है , या फिर स्थगन आदेश प्राप्त है पिछले 2 वर्षों में 75 प्रकरण फर्जी गलत पाए गए हैं इन प्रकरणों में हाईकोर्ट के स्थगन आदेश प्राप्ति के बाद कई अधिकारी कर्मचारी महत्वपूर्ण पदों पर अभी भी कार्यरत हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button