गुप्तचर विशेषछत्तीसगढ़बिग ब्रेकिंगवारदात

राज परिवार की भांजी को कपड़े फाड़ महल से निकाला गया बाहर, देर रात पहुंची पुलिस और फिर…….

कवर्धा: प्रदेश के कवर्धा के पूर्व राजशाही परिवार में इन दिनों सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। परिवार के बीच की लड़ाई अब सड़क तक पहुंच चुकी है। कवर्धा के पूर्व विधायक और राजा योगेश्वर राज सिंह पर उनकी भांजी ने गंभीर आरोप लगाए है। जिसमे वे बताती है कि कैसे उन्हें कपड़े फाड़कर और धक्के मारकर महल से बाहर निकला गया। यही नहीं उन्होंने आरोपों में जान से मरने की धमकी मिलने की भी बात कही है। इस पूरे मामले को लेकर राज परिवार की भांजी ने गुरूवार रात करीब 1 बजे कोतवाली थाने में FIR भी दर्ज कराई है।

राज परिवार की भांजी को कपड़े फाड़ महल से निकाला गया बाहर, देर रात पहुंची पुलिस और फिर.......

जानकारी के मुताबिक, कवर्धा की राजमाता और पूर्व विधायक शशि प्रभा देवी का 24 अक्टूबर को निधन हो गया था। उनकी तेरहवी में शामिल होने के लिए मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ से नातिन गोपिका सिंह जूदेव अपनी मां और पिता के साथ 26 अक्टूबर को कवर्धा महल पहुंची थी। गोपिका का कहना है कि 19 नवंबर तक वह अपने माता-पिता के साथ नानी के राजमहल में ही रुकी थीं।

आरोप है कि मामा ने महल से निकलने के लिए कहा

गोपिका ने बताया कि गुरुवार सुबह करीब 9 बजे पापा-मम्मी डायनिंग हॉल में नाश्ता कर रहे थे। तभी मामा योगेश्वर राज सिंह आए और कहा कि कुछ बात करनी है। इस पर मां ने कहा कि उन्हें जरूरी काम से रायपुर जाना है। शाम को आकर बात करेंगे, लेकिन गोपिका महल में ही रहेगी। आरोप है कि इसके बाद मामा गुस्सा हो गए और कहा कि महल से निकल जाओ, नहीं तो सब सामान उठाकर फेंक दूंगा।

बेटी को महल में छोड़ने पर खून खराबे की धमकी दी

गोपिका ने आरोप लगाया कि मामा ने मम्मी-पास से यह तक कहा कि लड़की को छोड़ोगे तो खून खराबा हो जाएगा। यह महल मेरा है। तहसीलदार ने मेरे नाम कर दिया है। अप लोगों का यहां कोई अधिकार नहीं है, बाहर निकलो। मम्मी ने कहा कि दो दिन में चले जाएंगे। इसके बाद मामा शांत हो गए। मम्मी को आंख टेस्ट कराना था तो वह दोपहर का खाना खाने के बाद रायपुर चली गईं।

यह भी पढ़ें कोरोना से दो दिनों में दो बच्चों की मौत, गर्भवती मां थी संक्रमित

बाजार से लौटी तो धक्के मारकर निकला

आरोप लगाते हुए गोपिका का कहना है कि वे अपने कमरें में थीं। लेकिन अपनी मामी के कहने पर वे उनके साथ बाजार गई। बाजार से करीब 4 बजे दोनों महल लौटी। तभी मामा को गेट पर खड़े देखा। मामा सभी को गाड़ी से उतरने और उसे छोड़कर आने को कहने लगे। लेकिन जब गोपिका ने जाने से मना किया, तो उन्हें सीने पर धक्का दिया गया और कपड़े फाड़कर जान से मरने की धमकी दी गई।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button