गुप्तचर विशेषछत्तीसगढ़बिग ब्रेकिंग

जिला शिक्षा विभाग की बड़ी कार्रवाई , 240 स्कूलों की मान्यता हुई रद्द, ये बड़े स्कूल हैं शामिल

आज सुबह रायपुर के कई स्कूलों के लिए बुरी खबर सामने लेकर आई। दरअसल जिला शिक्षा अधिकारी ने आज एक आदेश निकला जिसमें 240 स्कूलों की मान्यता रद्द कर दी हैं। ऐसा इस लिए क्योंकि इन स्कूलों ने विभाग द्वारा जारी किये गए महत्वपूर्ण आदेशों का पालन नहीं था। आपको बता दें कि जिला शिक्षा अधिकारी ने फ़ीस निर्धारण हेतु समिति गठन के निर्देश सभी स्कूलों के लिए किये थें। बावजूद इसके इन स्कूलों ने मनमानी फीस वसूली का सिलसिला जारी रखा था।

ये स्कूल सत्र 2021- 22 के लिए नहीं ले पायेगें दाखिला

जिला शिक्षा विभाग की ओर से जारी आदेश के मुताबिक जिन स्कूलों की मान्यता खत्म की गई है उन्हें जल्द से जल्द स्कूल के बच्चों का पंजीयन रजिस्टर, दाखिला पंजी, शिक्षा के अधिकार अधिनियम के तहत दाखिल बच्चों की सूची एवं अन्य दस्तावेज विकासखंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय में अनिवार्य रूप से जमा करना होगा। इन स्कूलों में अध्ययनरत बच्चों को नजदीकी स्कूल में शिफ्ट कराने की जिम्मेदारी विकास खंड शिक्षा अधिकारी और नोडल प्राचार्य को होगी।

आदेश में कहा है कि शासकीय विद्यालय फीस विनयमन अधिनियम-2020 के तहत अशासकीय विद्यालयों में फीस समिति के गठन के लिए प्रस्ताव (हार्डकॉपी एवं साफ्टकॉपी एक्सल शीट) उपलब्ध कराने निर्देशित किया गया है। लेकिन अत्यंत खेद का विषय है कि आपके द्वारा उक्त कार्य को गभीरतापूर्वक नहीं लिया गया, और आज तक नोडल प्राचार्य के माध्यम से विद्यालय फीस समिति के गठन के लिए प्रस्ताव इस कार्यालय को उपलब्ध नहीं कराया गया है। जिसके कारण विद्यालय फीस समिति गठन का प्रस्ताव कलेक्टर को प्रेषित नहीं किया जा सका एवं शासन की मंशा अनुरूप समय-सीमा में कार्य पूर्ण नहीं हो पाया है।

प्राइवेट विद्यालय फीस विनयमन अधिनियम-2020 के क्रियान्वयन में लापरवाही बरतना एवं जिला शिक्षा अधिकारी के आदेशों का पालन नहीं करना आपके विद्यालय को दी गई मान्यता के प्रमाण-पत्र की कण्डिका-15 का उल्लंघन है। आपके इस कृत्य के लिए आपके विद्यालय को दी गई मान्यता आगामी सत्र 2021-22 से समाप्त की जाती है।

जिला शिक्षा अधिकारी GR चंद्राकर के अनुसार लगातार सूचना देने नोटिस देने के नियुक्त नोडल ऑफिसरों के माध्यम से ट्रेनिंग देने के बावजूद इन स्कूलों में फ़ीस निर्धारण समिति कमेटी का गठन नहीं किया गया और आगामी वर्ष की भर्ती प्रक्रिया जारी था लगातार इन स्कूलों की मनमानी की शिकायत मिल रही थी कई बार नोटिस जारी किया जा चुका है। निर्धारित समय होने पर भी कार्य पूरा नहीं होने के कारण यह कार्रवाई की गई है। वहाँ पढ़ रहे बच्चों की तमाम डिटेल और आवश्यक दस्तावेज़ ये स्थानीय ब्लॉक कार्यालय में जमा करने का निर्देश दिया गया है।

theguptchar
theguptchar

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button