गुप्तचर विशेषछत्तीसगढ़बिग ब्रेकिंग

Chhattisgarh: कलेक्टर ने रद्द किया महिला विधायक का Birthday समारोह, इंजीनियर को मिली दरी और टेंट की ज़िम्मेदारी, पार्किंग और अन्य व्यवस्था में लगाए गए थे, सात अफ़सर

आम जनता के टैक्स के पैसों का जनप्रतिनिधियों द्वारा निजी कार्यों में उपयोग करना सामान्य हो चला है, ताजा मामला छत्तीसगढ़ से सामने आया है। जहाँ कसडोल की कांग्रेस विधायक (Congress MLA ) और संसदीय सचिव शकुंतला साहू के जन्मदिन (Birthday) के लिए अजीब और गरीब फरमान निकला, पहले तो सरकारी अफसरों की रविवार की छुट्टी ख़त्म कर उन्हें काम आने के आदेश मिले।

Chhattisgarh: कलेक्टर ने रद्द किया महिला विधायक का Birthday समारोह, इंजीनियर को मिली दरी और टेंट की ज़िम्मेदारी, पार्किंग में लगाए गए थे अन्य सात अफ़सर
Chhattisgarh: कलेक्टर ने रद्द किया महिला विधायक का Birthday समारोह, इंजीनियर को मिली दरी और टेंट की ज़िम्मेदारी, पार्किंग में लगाए गए थे अन्य सात अफ़सर

साथ ही वरिष्ठ अफसरों को ऐसे ऐसे काम दिए गए जिनके बारें में जान कर आपको थोड़ी हैरंगी हो सकती है या थोड़ी नाराजगी। दरसल कसडोल की विधायक शकुंतला साहू का जन्मदिन मनाने के लिए बाकायदा नोटिस जारी कर एसडीओ-इंजीनियर को दरी, बैठक, टेंट की व्यवस्था करने कहा गया था। कई अन्य अधिकारियों को खाने पीने, स्वागत से लेकर पार्किंग और सैनेटाइजर की तक व्यवस्था करने का लिखित आदेश जारी कर दिया गया था।

Social Media पर Viral

ये आदेश पत्र जब सोशल मिडिया (Social Media) में तेजी से तैरने लगा, तो जिले के कलेक्टर साहब हरकत में आये और उन्होंने इस पूरे कार्यक्रम को रद्द कर दिया है। बतादें कि इस आदेश के वायरल होने से प्रशासन की जमकर किरकिरी भी हो रही है। गौरतलब है कि फरवरी की 6 तारीख को कसडोल विधायक का जन्मदिन मनाया जाना था।

इसी दिन आयोजन के लिए पलारी जनपद सीईओ ने लिखित आदेश जारी किया। यह आदेश वायरल हो गया। आदेश में लिखा था कि संसदीय सचिव एवं विधायक शकुंतला साहू का जनपद पंचायत परिसर में जन्मदिन का कार्यक्रम आयोजित किया गया है। इसमें जनपद पदाधिकारी, अधिकारी, कर्मचारी, पंचायत सचिव, स्वं-सहायता समूह के सदस्य आमंत्रित किए गए हैं।

इस कार्यक्रम में लगभग 500 से ज्यादा व्यक्तियों के आने की संभावना है। इसकी व्यवस्था के लिए जनपद पंचायत पलारी के अधिकारी एवं कर्मचारियों को दायित्व सौंपा जाता है। रविवार को छुट्‌टी होने के बाद यह भी उल्लेख किया गया था कि सभी अधिकारी-कर्मचारी को निर्धारित समय पर जनपद पंचायत परिसर में उपस्थित रहें।

इन अधिकारियों को दी गई थी जिम्मेदारी

आदेश के मुताबिक एसडीओ, इंजीनियरों को टेंट, दरी और बैठक व्यवस्था, विकास विस्तार अधिकारी, कार्यक्रम अधिकारी समेत 7 लोगों को मंच व्यवस्था, अतिथियों के स्वागत, जलपान की व्यवस्था, सहायक विकास विस्तार अधिकारी को मंच संचालन, विकासखंड समन्वय समेत तीन को सैनेटाइजर की व्यवस्था, पार्किंग व्यवस्था समेत अन्य जिम्मेदारियां दी गईं थी।

यह भी पढ़ें अगले महीने से बदल जाएगा इन सरकारी बैंकों का IFSC कोड, अभी करें पता, नहीं तो पैसे का लेनदेन बंद

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button