गुप्तचर विशेषबिग ब्रेकिंगभारत

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों पर पीएम मोदी का बयान

मोदी सरकार में पेट्रोल और डीजल की कीमतें लगातार बढ़ती जा रही हैं। आलम यह हैं कि देश में पेट्रोल की कीमत पहली बार 100 रुपये के पार चली गयी है। वहीं मोदी सरकार लागातार विपक्ष के निशाने पर आ गयी है। इस बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश को सम्बोधित करते हुए कहा है कि मध्यम वर्ग को ऐसी कठिनाई नहीं होती यदि पूर्ववर्ती सरकारों ने ऊर्जा आयात की निर्भरता पर ध्यान दिया होता। PM मोदी ने तेल की कीमतों में लगातार हो रही वृद्धि का जिक्र किए बिना कहा कि 2019-20 में भारत ने अपनी घरेलू मांगों को पूरा करने के लिए 85 प्रतिशत तेल और 53 प्रतिशत गैस का आयात किया है।

बता दें कि पीएम मोदी ने ये बातें तमिलनाडु में एन्नौर-थिरुवल्लूर-बेंगलुरु-पुदुचेरी-नागापट्टिनम-मदुरै-तूतीकोरिन प्राकृतिक गैस पाइपलाइन के रामनाथपुरम- थूथूकुडी खंड का उद्घाटन करने के बाद कही। अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘क्या हमें आयात पर इतना निर्भर होना चाहिए? मैं किसी की आलोचना नहीं करना चाहता लेकिन यह जरूर कहना चाहता हूं कि यदि हमने इस विषय पर ध्यान दिया होता तो हमारे मध्यम वर्ग को बोझ नहीं उठाना पड़ता।’’

उन्होंने कहा, ‘‘स्वच्छ और हरित ऊर्जा के स्रोतों की दिशा में काम करना और ऊर्जा-निर्भरता को कम करना हमारा सामूहिक कर्तव्य है.’’

प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार मध्यम वर्ग की कठिनाइयों के प्रति संवेदनशील है और भारत अब किसानों और उपभोक्ताओं की मदद करने के लिए इथेनॉल पर ध्यान केंद्रित कर रहा है। उन्होंने कहा कि गन्ने से निकाले जाना वाला इथेनॉल आयात को कम करने में मदद करेगा और किसानों को आय का एक विकल्प भी देगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button