भारत

याद हैं जब PM मोदी ने किया था ‘जनता कर्फ्यू’ का ऐलान, कही थी ये बड़ी बात

नई दिल्ली: देश में शुक्रवार 19 मार्च 2021 को एक दिन में कोरोना के 39,726 नए केस दर्ज किए गए हैं, जो कि इस साल एक दिन में संक्रमित मरीजों की सबसे बड़ी संख्या है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के शुक्रवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, कोरोना वायरस के मामलों में लगातार नौवें दिन बढ़ोतरी हुई है।

देश में अब भी 2,71,282 मरीज उपचार करा रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ, इस बीमारी से ठीक होने वाले लोगों की तादाद गिरकर 96.26 प्रतिशत रह गई है। खास बात यह है कि पीएम नरेंद्र मोदी ने आज ही के दिन यानि 19 मार्च 2020 को देश को संबोधित किया था। इस दौरान उन्होंने जनता कर्फ्यू का ऐलान किया था। उन्होंने साफ़ शब्दों में देश को कोरोना वायरस से सतर्क रहने का संदेश भी दिया था।

पीएम मोदी ने संयम के साथ इस संकटपूर्ण स्थिति से मुकाबला करने का भी मंत्र दिया। उन्होंने कहा कि जनता को धैर्य के साथ इस स्थिति का सामना करना होगा।  उन्होंने जनता कर्फ्यू का ऐलान करते हुए कहा था कि जो सरकारी सेवाओं में हैं, अस्पताल से जुड़े हैं, जन-प्रतिनिधि हैं, जो मीडिया कर्मी हैं, इनकी सक्रियता तो जरुरी है। किन्तु समाज के बाकी सभी लोगों को, खुद को शेष समाज से आइसोलेट कर लेना चाहिए।

उन्होंने कहा कि मेरा एक और आग्रह है कि हमारे परिवार में जो भी वरिष्ठ नागरिक हों, 65 वर्ष की उम्र के ऊपर के व्यक्ति हों, वो आने वाले कुछ हफ्ते तक घर से बाहर न निकलें। आज की पीढ़ी इससे बहुत परिचित नहीं होगी, किन्तु पुराने समय में जब युद्ध की स्थिति होती थी, तो गांव-गांव में ब्लैक आउट किया जाता था।

इसके बाद पीएम मोदी ने सभी देशवासियों से 22 मार्च को जनता कर्फ्यू का पालन करने का अनुरोध किया था। आज जब फिर एक दिन में 40 हज़ार के लगभग कोरोना केस सामने आए हैं, तो फिर से जनता कर्फ्यू और लॉकडाउन के कयास लगना शुरू हो गए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button